हमारे बारे में


मध्यप्रदेश व्यावसायिक परीक्षा मंडल की स्थापना वर्ष 1970 में मध्यप्रदेश शासन द्वारा पूर्व चिकित्सीय परीक्षा बोर्ड के रुप में की गई थी । बाद में, वर्ष 1981 में पूर्व-इंजीनियरिंग मंडल का गठन किया गया था। इसके षीघ्र पश्चात वर्ष 1982 में इन दोनों मंडलों को सम्मिलित कर मध्यप्रदेश व्यावसायिक परीक्षा मंडल का नाम दिया गया । शासन के आदेश क्रमांक 1325-1717-42-82 दिनांक 17.4.82 द्वारा मध्यप्रदेश व्यावसायिक परीक्षा मंडल को राज्य में विभिन्न महाविद्यालयों में प्रवेश के लिए प्रवेश परीक्षा संचालित करने का उत्तरदायित्व सौंपा गया है । वर्तमान में मध्यप्रदेश व्यावसायिक परीक्षा मडल द्वारा निम्नलिखित प्रवेश परीक्षाऐं आयोजित की जाती है:-
  • पी.पी.टी.- पॉलटेक्निक डिप्लोमा पाठ्क्रम में प्रवेश परीक्षा
  • पी.ए.टी. प्री-एग्रीकल्चर टेस्ट: बी.टेक(कृषि अभियांत्रिकी), बी.एससी.(कृषि), बी.एससी.(वानिकी), बी.एससी.(उद्यानिकी) एवं बी.एससी.(कृषि एवं उद्यमिता) पाठ्यक्रमों के लिए प्रवेश परीक्षा
  • जी.एन.टी.एस.टी.- जनरल नर्सिंग प्रशिक्षण; केवल लड़कियों के लिए प्रवेश परीक्षा
  • पी.एन.एस.टी.-बी.एस.सी., नर्सिंग प्रशिक्षण; केवल लड़कियों के लिए प्रवेश परीक्षा
  • पी.ए.एच.यू.एन.टी.-प्री-आयुर्वेदिक, होम्योपैथिक, यूनानी, नैच्यूरापैथी एवं योगा उपाधि पाठ्यक्रम प्रवेश परीक्षा
  • प्री बी.एड.- बैचलर ऑफ एजुकेशन पाठ्यक्रम प्रवेश परीक्षा
  • डी.ए.एच.ई.टी.- डिप्लोमा इन एनीमल हस्बेंडरी प्रवेश परीक्षा
  • पी.व्ही.एण्ड.एफ.टी.- प्री-वेटरीनरी एवं फिशरीज पाठ्यक्रम हेतु प्रवेश परीक्षा
  • एस.ओ.ई.- उत्कृष्ट विद्यालयों में प्रवेश के लिए परीक्षा
  • एस.ओ.एम.-आदर्श विद्यालयों में प्रवेश के लिए परीक्षा
मध्यप्रदेश व्यावसायिक परीक्षा मंडल राज्य शासन का एक स्व-वित्त पोषित, स्वायत्त निगमित निकाय है । शासन ने व्यावसायिक परीक्षा मंडल अधिनियम, 2007 के माध्यम से नीतिगत और संगठनात्मक विषयों पर विनिश्चय करने के लिए संचालक मंडल को पुनर्गठित किया है । मंडल, मध्यप्रदेश व्यावसायिक परीक्षा मण्डल के नाम से एक निगमित निकाय है तथा इसका शाश्वत उत्तराधिकार है तथा जंगम तथा स्थावन दोनों सम्पत्तियों को अर्जित और धारित करने के अधिकार की शक्ति के साथ एक सामान्य मुद्रा है एवं उसके द्वारा धारित किसी भी सम्पत्ति को अंतरित करने की और संविदा करने तथा इसके गठन के लिए आवश्यक समस्त बातों की शक्ति है । यह अपने निगममित नाम से वाद चला सकता है या इसके विरुद्ध वाद लाया जा सकता है ।

बोर्ड का गठन अध्यक्ष और निम्नलिखित सदस्यों से मिलकर हुआ हैः-

पदेन सदस्य:

  • प्रमुख सचिव/सचिव, मध्यप्रदेष शासन, तकनीकी षिक्षा और प्रषिक्षण विभाग
  • प्रमुख सचिव/सचिव, मध्य प्रदेश शासन, वित्त विभाग
  • प्रमुख सचिव/सचिव, मध्य प्रदेश शासन उच्च शिक्षा विभाग
  • प्रमुख सचिव/सचिव, मध्य प्रदेश शासन चिकित्सा शिक्षा विभाग
  • प्रमुख सचिव/सचिव, मध्य प्रदेश शासन स्कूल शिक्षा विभाग
  • प्रमुख सचिव/सचिव, मध्य प्रदेश शासन लोक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग
  • कुलपति, राजीव गांधी प्रौद्यौगिकी विश्वविद्यालय,भोपाल
  • कुलपति, जवाहर लाल नेहरू/ कृषि विश्वविद्यालय, जबलपुर
  • निदेशक, राष्ट्रीय विधि संस्थान विश्वविद्यालय, भोपाल
  • आयुक्त, उच्च शिक्षा
  • संचालक, तकनीकी शिक्षा
  • संचालक, भारतीय प्रबंध संस्थान, इन्दौर
  • संचालक, चिकित्सा शिक्षा
  • संचालक, व्यावसायिक परीक्षा मंडल

नामनिर्दिष्ट सदस्य

  • प्रबंधन पाठ्यक्रम चलाने वाले मध्यप्रदेश राज्य के विश्वविद्यालयों से किसी विश्वविद्यालय का एक कुलपति
  • राज्य के स्वायत्तशासी इंजीनियरिंग महाविद्यालय का एक प्राचार्य या निदेशक
  • राज्य के निजी गैर सहायता प्राप्त इंजीनियरिंग महाविद्यालय से एक प्राचार्य या संचालक
  • राज्य के स्वायत्त या शासकीय पॉलीटेक्निक महाविद्यालयों से एक प्राचार्य
  • फार्मेसी में डिग्री या डिप्लोमा प्रदान करने वाले निजी क्षेत्र संस्थानों से एक प्राचार्य या संचालक
  • प्रबंधन पाठ्यक्रम-मेनेजमेंट कोर्स में डिग्री या डिप्लोमा प्रदान करने वाले निजी क्षेत्र संस्थानों से एक प्राचार्य या संचालक
  • कम्प्यूटर एप्लीकेशन पाठ्यक्रम प्रदान करने वाले निजी क्षेत्र संस्थानों से एक प्राचार्य या संचालक
  • मध्यप्रदेश विधान मंडल के दो सदस्य
  • अन्यत्ररुप से प्रतिनिधित्व न होने वाले हितों का प्रतिनिधित्व करने वाले दो व्यक्ति;
परंतु जहां तक सम्भव हो और उपलब्धता के अध्यधीन रहते हुए नामनिर्दिष्ट किए गए ग्यारह सदस्यों में से एक सदस्य अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग का होगा ।

मंडल की कार्यकारी समिति

मंडल की कार्यकारी समिति में निम्नलिखित सदस्य समाविष्ट होंगेः-

अध्यक्ष, व्यावसायिक परीक्षा मंडल सभापत
सभापति प्रधान सचिव, मध्य प्रदेश शासन, तकनीकी शिक्षा और प्रशिक्षण विभाग सदस्य
प्रधान सचिव या सचिव, मध्य प्रदेश शासन, वित्त विभाग सदस्य
प्रधान सचिव या सचिव, मध्यप्रदेश शासन चिकित्सा शिक्षा विभाग सदस्य
कुलपति, राजीव गांधी प्रौद्यौगिकी विश्वविद्यालय भोपाल सदस्य
सदस्य संचालक, तकनीकी शिक्षा सदस्य संचालक, मध्यप्रदेश व्यावसायिक परीक्षा मंडल सदस्य सचिव

       मंडल के शीर्ष पर सभापति होता है जो मध्यप्रदेश शासन में मुख्य सचिव की पद श्रेणी का होता है । मंडल का संचालक सामान्यतः आई.ए.एस. होता है। मंडल का नियंत्रक किसी इंजीनियरिंग महाविद्यालय का प्रोफेसर रहता है। इनके अतिरिक्त, मंडल में एक अपर संचालक, एक वित्त अधिकारी, तीन संयुक्त नियंत्रक, दो उप नियंत्रक, एक प्रधान सिस्टम एनालिस्ट, एक लेखा अधिकारी, एक सहायक नियंत्रक और एक सिस्टम एनालिस्ट रहते हैं जो विभिन्न गतिविधियों का नेतृत्व करते हैं ।